chessbase india logo

आईएमसीए माइंड चैंपियनशिप - कोनेरु हम्पी पदक से चूकी

19/05/2019 -

चीन में सम्पन्न हुई आईएमसीए माइंड विश्व चैंपियनशिप में भारत को खाली हाथ लौटना पड़ा है और रैपिड के बाद ब्लिट्ज में भी कोई भी पदक लेने में सफलता नहीं मिली । ब्लिट्ज में पहले दिन के खेल के बाद 8.5 अंको के साथ आगे चल रही भारतीय ग्रांड मास्टर और शीर्ष महिला खिलाड़ी कोनेरु हम्पी दूसरे दिन अपने खेल को बरकरार नहीं रख पायी और अंतिम फ़ाइनल दिन कजखस्तान की युवा खिलाड़ी और विश्व रैपिड और ब्लिट्ज की पदक विजेता अब्दुमलिक ज़्हंसाया से दोनों मैच पराजित होने के बाद ही वह सम्हाल नहीं सकी और अंतिम छह मैच में वह सिर्फ 2 अंक जोड़ सकी इसके परिणाम स्वरूप हम्पी पहले से चौंथे स्थान पर पहुँच गयी । विदित गुजराती भी अंतिम समय में कुछ खास नहीं कर सके और 11.5 अंक बनाकर सातवे स्थान पर रहे पढे यह लेख । 

आईएमसीए माइंड चैंपियनशिप :ब्लिट्ज़ में हम्पी सबसे आगे

17/05/2019 -

हेंगसुई , चीन में चल रहे आईएमसीए माइंड चैंपियनशिप में रैपिड में भले भारतीय खिलाड़ी कुछ खास कमाल नहीं दिखा सके हो पर ब्लिट्ज़ स्पर्धा में भारत को दो पदक की आस नजर आ रही है । ब्लिट्ज़ में 12 राउंड के बाद महिला वर्ग में कोनेरु हम्पी 8.5 अंक बनाते हुए एकल बढ़त बनाए हुए है तो पुरुष वर्ग में विदित गुजराती भी 7 अंक के साथ सयुंक्त तीसरे स्थान पर चल रहे है और अगर ये दोनों खिलाड़ी कल अंतिम दिन अपना अच्छा प्रदर्शन करते है तो बहुत संभव है की रैपिड में खाली हाथ रहने वाले भारत के लिए ब्लिट्ज़ से ही दो पदक मिल जाये । आपको बता दे की रैपिड में भारत पदक से चूक गया था जब विदित अंतिम राउंड में अपने प्रदर्शन बरकरार नहीं रख सके थे और फिर छठे स्थान पर रहे थे जबकि हरिका द्रोणावल्ली और कोनेरु हम्पी 14वे  और 15 वे स्थान पर रही थी । 

आखिरकार बदल गए विश्व चैंपियनशिप के नियम

13/05/2019 -

जी हाँ दोस्तो विश्व शतरंज संघ ( फीडे ) नें आगामी विश्व शतरंज चैंपियनशिप के नियमों में बड़ा बदलाव किया है और यह बदलाव कुछ ऐसे है जो निश्चित तौर पर विश्व चैंपियनशिप को रोचक तो बनाएँगे ही साथ ही साथ अब मैच में परिणाम निकलने की संभावना बढ़ गयी है ,या यूं कहे बेहतर खिलाड़ी इस मैच में साफ निखरकर सामने आएगा । फीडे नें ना सिर्फ टाइम कंट्रोल में परिवर्तन किया है बल्कि मैच के अनिर्णीत रहने की संभावना को घटाया भी है । पुरुष्कार राशि को भी एक स्तर पर पहुंचा दिया है । मैच की संख्या में भी इजाफा कर दिया गया है । महिला विश्व चैंपियनशिप को भी पुरुषो की विश्व चैंपियनशिप की तर्ज में अब आयोजित किया जाएगा । पढे यह लेख ..

कापाब्लांका मेमोरियल - क्या अधिबन करेंगे वापसी ?

11/05/2019 -

तीसरे विश्व शतरंज चैम्पियन जोस राउल कापाब्लांका की याद में उनकी जन्मस्थली हवाना में चल रहे 54 वे कापाब्लांका मेमोरियल शतरंज चैंपियनशिप में भारत के नंबर चार शतरंज खिलाड़ी अधिबन भास्करन भी भाग ले रहे है । 2700 का आंकड़ा छूने के बाद यह पहला मौका है जब अधिबन किसी टूर्नामेंट में टॉप सीड की हैसियत से भाग ले रहे है पर प्रतियोगिता अभी तक अच्छा खेल नहीं दिखा सके है और 6 खिलाड़ियों के बीच डबल राउंड रॉबिन टूर्नामेंट में फिलहाल 3 अंको के साथ 7 राउंड के बाद चौंथे स्थान पर चल रहे है साथ ही अब तक उनकी रेटिंग में उन्हे 13.5 अंको का भारी भरकम नुकसान भी उठाना पड़ा है । खैर तो अब नजर होगी कभी भी हार ना मानने वाले इस खिलाड़ी के अंतिम तीन राउंड के प्रदर्शन पर । अगर उनकी क्षमता की बात करे तो यकीन मानिए उनके लिए अंतिम तीनों मुक़ाबले जीतना भी संभव है । तो किससे है उनके अंतिम तीन मुक़ाबले पढे यह लेख । 

तेपे सिगमन - हरिकृष्णा बने उपविजेता ! निहाल नें रचा इतिहास !

10/05/2019 -

स्वीडन के मालमो में खेले गए तेपे सिगमन इंटरनेशनल शतरंज चैम्पियनशिप का खिताब इग्लैंड के ग्रांडमास्टर गाविन जोन्स ने सात राउण्ड के मैच में पांच अंक हासिल कर अपने नाम कर लिया। गाविन जोन्स ने अपना कोई भी मैच नहीं गंवाते हुए चार मैचों में ड्रा और तीन मैचों में जीत दर्ज की। वही प्रतियोगिता में शानदार प्रदर्शन कर रहे टॉप सीडेड भारतीय खिलाड़ी पी हरिकृष्णा अपने आखिरी के दोनों मैच ड्रा कराकर महज आधे अंकों से विजेता बनने से चूक गए। हालांकि उन्होंने पांच ड्रा और दो मैचों में जीत दर्ज कर 4.5 अंक हासिल कर उपविजेता बनने का गौरव हासिल कर किया। हरिकृष्णा इस पूरे प्रतियोगिता में अपराजित रहे। पूरी प्रतियोगिता विश्व के आठ बेतहरीन खिलाड़ियों के बीच खेली गई। पर अगर प्रतियोगिता भारत के लिए एक गर्व का बड़ा मौका लेकर आयी तो उसका कारण रहे नन्हें निहाल सरीन जिन्होने इस प्रतियोगिता के बाद आखिरकार 2600 का आंकड़ा पार कर लिया ऐसा कारनामा करने वाले वह भारत के सबसे कम उम्र के खिलाड़ी बन गए है । पढ़े नितेश श्रीवास्तव की रिपोर्ट

निहाल का कमाल, जूनियर विश्व चैम्पियन को दी मात

08/05/2019 -

स्वीडन के मालमो में चल रहे तेपे सिगमन इंटरनेशनल शतरंज चैम्पियनशिप के पांचवे राउण्ड के मैच में 14 वर्षीय भारतीय सितारे ग्रांडमास्टर निहाल सरीन (2598) ने वर्तमान विश्व जूनियर चैम्पियन परहम मघसूदलू (2671) को शतरंज की बिसात पर मोहरों के बेहतरीन तालमेल से पटखनी देते हुए पूरे प्रतियोगिता में सनसनी फैला दी है। कभी भी बड़ा उलटफेर करने को तैयार रहने वाले निहाल सरीन ने बता दिया की उनके खेल को हलके में लेने की भूल कोई खिलाड़ी न करें। पांचवे राउण्ड में जीत के साथ ही इस सितारे ने अपनी लाइव रेटिंग में सात अंकों की बढ़त हासिल कर उसे 2605 तक पहुंचाते हुए एक नया इतिहास रचने के कगार पर पहुंच गए है। अगर वह यही प्रदर्शन इस प्रतियोगिता के बचे दो चक्रों के मैच में जारी रखते है जिसकी उनसे भारतीय शतरंज जगत को पूरी उम्मीद भी है। तो वह 2600 रेटिंग हासिल करने वाले दुनिया के दूसरे सबसे कम उम के खिलाड़ी बन जाएगे। पढ़िये नितेश श्रीवास्तव की रिपोर्ट

तेपे सिगमन शतरंज - हरिकृष्णा जीत के साथ बढ़त पर

06/05/2019 -

स्वीडन के मालमो में प्रतिवर्ष होने वाला तेपे सिगमन इंटरनेशनल शतरंज चैंपियनशिप इस बार भारत के लिहाज से बेहद खास है क्यूंकी इस बार भारत से जबरजस्त लय में चल रहे पेंटाला हरिकृष्णा ना सिर्फ प्रतियोगिता के टॉप सीड है बल्कि खिताब के बड़े दावेदार भी है । उनके अलावा निहाल सरीन एक नए इतिहास रचने की कगार पर खड़े है 2598 रेटिंग लिए 14 वर्षीय यह सितारा 2600 अंक छूनें  की कगार पर है । पहले तीन राउंड के बाद दोनों ही खिलाड़ी अपने अपने लक्ष्यों को पूरा करते नजर आ रहे है। जहां तीसरे राउंड में स्वीडन के शीर्ष खिलाड़ी निल्स  ग्रंडिलीयूस पर जीत के साथ हरिकृष्णा सयुंक्त बढ़त पर आ गए है तो निहाल नें लगातार तीसरे उनसे बेहतर रेटिंग के खिलाड़ी इंग्लैंड के गाविन जोन्स से ड्रॉ खेलते हुए अपनी लाइव रेटिंग 2600 के पार पहुंचा दी है । पढे यह लेख । 

मई फीडे रेटिंग - भारतीय टीम का बढ़ता कद

04/05/2019 -

विश्व शतरंज संघ नें अपनी मई माह की विश्व रैंकिंग जारी कर दी है और भारत के लिए अच्छी खबर यह है की भारत की पुरुष टीम जहां विश्व रैंकिंग में चौंथे स्थान पर बनी हुई है तो महिला वर्ग में भारत अब तीसरे स्थान पर पहुँच गया है । पुरुष वर्ग में इस विश्व रैंकिंग में भारत के लिए आनंद , हरीकृष्णा , विदित और अधिबन का 2700 के क्लब में बने रहना है तो साथ ही साथ भारत के शीर्ष 10 में शामिल सभी खिलाड़ियों का +2600 का रहना भी बड़ा कारण है जबकि महिला वर्ग में हम्पी हरिका की पुनः बेहतर होती रेटिंग के साथ साथ दिव्या देशमुख जैसी युवा खिलाड़ी का उभरना भी एक खास बात है । खैर विश्व शतरंज की महाशक्ति का लक्ष्य संजोय भारत के लिए अभी लंबा रास्ता तय करना है जब रूस जैसे देश जहां शीर्ष 10 के सभी खिलाड़ी +2700 है तो अमेरिका और चीन की शीर्ष पर चुनौती लगातार कड़ी हो रही है भारत को अब निहाल,प्रग्गानंधा और गुकेश जैसे चेहरो के और चमकने का इंतजार है । पढे यह लेख  

क्या कार्लसन सार्वकालिक महान खिलाड़ी है ?

03/05/2019 -

क्या मेगनस कार्लसन के लिए अब 2900 का नंबर संभव है ? क्या मेगनस कार्लसन अपनी अब तक की सबसे शानदार शतरंज खेल रहे है ? क्या मेगनस कार्लसन अब तक के सबसे बेहतर शतरंज खिलाड़ी और विश्व चैम्पियन है ? क्या मेगनस कार्लसन के रहते किसी और का विश्व चैम्पियन बनना असंभव है ? ऐसे ना जाने कितने सवाल आपके और दुनिया भर के शतरंज प्रेमियों के मन में गूंज रहा है । कारण साफ है ग्रेंके मास्टर्स का खिताब 1.5 अंक के अंतर से जीतने के बाद कार्लसन 2875 अंको पर जा पहुंचे है और वह जिस अंदाज में विश्व के +2700 के खिलाड़ियों को पराजित कर देते है उससे उनके बढ़े हुए स्तर का अंदाजा भी हो जाता है । उनके और विश्व नंबर 2 के बीच बढ़ता रेटिंग का फासला भी यही कहता है की कार्लसन को पीछे छोड़ना मुश्किल है नहीं नामुमकिन भी है ! पढे ग्रेंके मास्टर्स में उन्हे मिली यह जीत पर यह लेख । 

लखनऊ मेट्रो मे हुआ स्पीड चैस का आयोजन

01/05/2019 -

भारत में तेजी से प्रसिद्धि पाने वाला खेल शतरंज अब लोगों के दिलों दिमाग में अपनी जगह बनाने में कामयाब हो रहा है। हर तरफ इस खेल की जागरुकता के लिए लोगों को प्रेरित किया जा रहा है। बीते जनवरी में जहां 15वें प्रवासी भारतीय समारोह में भारत की आध्यात्मिक और सांस्कृतिक नगरी वाराणसी के अस्सी घाट पर शतरंज की बिसात बिछी और शतरंज प्रेमियों ने इसका जमकर लुत्फ उठाया। वहीं सात अप्रैल रविवार को नवाबों के शहर लखनऊ में भी शतरंज की जागरुकता के लिए ब्लैक एंड व्हाइट चेस क्लब के निदेशक व पूर्व शतरंज चैम्पियन डाॅ जुनैद अहमद ने एक बेहतरीन काम करते हुए लखनऊ मेट्रो ट्रेन की पीआरओ पुष्पा बेलानी के सहयोग से मेट्रो ट्रेन के अंदर स्पीड शतरंज टूर्नामेण्ट का आयोजन किया। 

पढ़े नितेश श्रीवास्तव की रिपोर्ट 

नित्यता जैन बनी मध्य प्रदेश सब जूनियर चैम्पियन

30/04/2019 -

मध्य प्रदेश में इस समय राष्ट्रीय स्पर्धाओं के लिए राज्य चयन स्पर्धाओं  का दौर चल रहा है और एक के बाद अलग अलग वर्गो की प्रतियगिताओं का आयोजन किया जा रहा है । इसी क्रम में मध्य प्रदेश के मुंबई के नाम से प्रसिद्ध इंदौर में राज्य सब जूनियर फीडे रेटिंग स्पर्धा का आयोजन किया गया जिसका खिताब इंदौर की नित्यता जैन नें अपने नाम कर लिया । हालांकि उनके साथ इंदौर के ही आयुष शर्मा 8 मैच में से 7.5 अंक बनाकर टाईब्रेक के आधार पर दूसरे स्थान पर रहे । मध्य  प्रदेश शतरंज के इतिहास में यह पहला मौका था जब  राज्य सब जूनियर स्पर्धा को फीडे रेटिंग स्तर पर आयोजित किया गया और इसमे विभिन्न जिलो से करीब 150 खिलाड़ियों नें भाग लिया । पढे यह लेख 

शेनज़ेन मास्टर्स -पेंटाला हरिकृष्णा रहे उपविजेता

28/04/2019 -

भारत के पेंटाला हरिकृष्णा शेनज़ेन मास्टर्स शतरंज चैंपियनशिप में विजेता का खिताब हासिल करने से भले चूक गए पर दुनिया भर के शतरंज प्रेमियों का दिल जीतने में कामयाब रहे । अंतिम मुक़ाबले में उन्हे विश्व नंबर 3 और  प्रतियोगिता के टॉप सीड चीन के डिंग लीरेन के हाथो पराजय का सामना करना पड़ा और 5.5 अंको पर आधे अंक की बढ़त पर चल रहे हरिकृष्णा को पीछे छोड़ते  हुए नीदरलैंड के अनीश गिरि नें अंतिम राउंड में जीत के सहारे 6 अंको पर खिताब पर कब्जा जमा लिया । डिंग लीरेन हरिकृष्णा को हराकर 5.5 अंको के साथ तीसरे स्थान पर आने में कामयाब रहे । खैर इस प्रतियोगिता में भले हरि खिताब हासिल नहीं कर पाये पर यह प्रतियोगिता उनके आने वाले खेल जीवन के लिए बेहद अहम पड़ाव साबित होने वाली है। यहाँ मिली 5 बड़ी जीत से उनके आत्मविश्वास में  तो बदलाव आएगा ही विश्व स्तर के खिलाड़ियों का भी उनके प्रति नजरिया अब बदला है जिससे आने वाले समय में हरि कुछ और बड़े सुपर ग्रांड मास्टर टूर्नामेंट में नजर आ सकते है । पढे यह लेख 

शेनज़ेन मास्टर्स - जीत के साथ हरिकृष्णा खिताब के करीब

26/04/2019 -

कहते है की अगर किसी को अपनी काबलियत का पता लग जाये और खुद पर यकीन हो तो फिर उस इंसान की तकदीर की तस्वीर बदलते देर नहीं लगती । चीन में चल रही शेनज़ेन मास्टर्स शतरंज चैंपियनशिप में भारत के पेंटाला हरिकृष्णा की आठवे  राउंड में  रिचर्ड रापो से हार के बाद नौवें राउंड में यू यांगी के खिलाफ जीत इसी बात को साबित करती है की भारत के हरिकृष्णा अब विश्व शतरंज परिद्र्श्य को बदलने की ठान चुके है । उनकी ओपनिंग अचानक अभेद्य नजर आने लगी है और उनका एंडगेम मजबूत और आक्रामक । खैर 9 राउंड के बाद हरिकृष्णा 5 जीत 2 हार और 2 ड्रॉ के साथ 6 अंक बनाकर एकल बढ़त पर है और कल अगर वह डिंग लीरेन से ड्रॉ भी खेलते है तो उनका खिताब जीतना तय नजर आता है इस जीत नें उन्हे एक बार फिर विश्व रैंकिंग में 23 वे स्थान पर पहुंचा दिया है । पढे यह लेख और देखे हमारे विडियो विश्लेषण भी हिन्दी में । 

ग्रेंके क्लासिक 2019 - विश्वनाथन आनंद सयुंक्त बढ़त पर

24/04/2019 -

भारत के सर्वकालिक महान खिलाड़ी  और 5 बार के विश्व शतरंज चैम्पियन विश्वनाथन आनंद नें अपनी शानदार लय को जारी रखते हुए जर्मनी में चल रहे ग्रेंके क्लासिक शतरंज चैंपियनशिप में स्पेन के वालेजों पोंस को चौंथे राउंड मे पराजित करते हुए प्रतियोगिता में अपनी दूसरी जीत दर्ज की और इस जीत के साथ आनंद मौजूदा विश्व चैम्पियन नॉर्वे के मेगनस कार्लसन के साथ 3 अंक बनाकर सयुंक्त बढ़त में पहुँच गए है । अभी तक खेले चार मुककाबले में आनंद नें काले मोहरो से दो जीत दर्ज की है जबकि सफ़ेद मोहरो से दो मैच ड्रॉ खेले है । 9 राउंड के इस राउंड रॉबिन मुकाबले में आनंद को अभी फबियानों करूआना , लेवान अरोनियन , पीटर स्वीडलर जैसे खिलाड़ियों से मुक़ाबले खेलने है और देखना है शानदार शुरुआत करने वाले आनंद किस तरह से इस प्रतियोगिता में आगे प्रदर्शन करते है पढे यह लेख और देखे हमारा हिन्दी विडियो विश्लेषण भी ।