chessbase india logo
Hindi News

 

 

मन के हारे हार है , मन के जीते जीत !!

09/06/2017 -

मन के हारे हार है मन के जीते जीत , यह बात आपने मैंने बचपन में कई बार सुनी है , एक खिलाड़ी के जीवन में इस से जुड़ी परस्थिति का सामना हमें लगभग रोज ही करना होता है , तो जब आपका मैच किसी बड़े खिलाड़ी से पड़ता है तो आप क्या सोचते है ,तो आप क्या करते है यह बात मैच के परिणाम के लिए कितने मायने रखती है ? क्या खुद को कमजोर समझने वाला ,सामने वाले को ताकतवर समझने वाले के बीच मैच खेलने की जरूरत भी रह जाती है ? क्या वह मैच एक औपचारिकता नहीं लगने लगता ,जैसे मन पहले ही कह देता है यह मैच तो हारना ही था ,क्या यह रवैया हमें वाकई एक खिलाड़ी होने के असली फायदे देता है , पढे सागर शाह को यह लेख जिसमें एक खिलाड़ी सामने वाले से पहले खुद से जीतने का कारनामा करता है .. वाकई प्रेरक 

नॉर्वे : R-1 & 2 : लाग्रेव से ड्रॉ तो क्रामनिक से हारे आनंद

08/06/2017 -

नॉर्वे शतरंज 2017 के क्लासिकल मैच के शुरू होते ही अंतर्राष्ट्रीय शतरंज जगत का माहौल अचानक से काफी रोचक हो गया है , किसी भी केंडीडेट टूर्नामेंट के जैसा मजबूत नजर आने वाला 9 राउंड का यह मुक़ाबला अपने पहले 2 पड़ाव पार कर चुका है । इस टूर्नामेंट के परिणाम सिर्फ विश्व टॉप 10 में ही बदलाव नहीं करेंगे बल्कि जीतने वाले का दावा भविष्य के केंडीडेट के लिए मजबूत नजर आने लगेगा । बात करे आनंद की तो पहले राउंड मे काले मोहरो से फ्रांस के एमएलवी से ड्रॉ खेलकर शुरुआत करने वाले आनंद के लिए दूसरा मैच अच्छा परिणाम नहीं लाया उन्हे पूर्व विश्व चैम्पियन क्रामनिक के हाथो हार का सामना करना पड़ा उम्मीद है वह अपने स्वभाव अनुसार बाकी बचे मैच में अच्छी वापसी करेंगे । दो राउंड के बाद नाकामुरा और क्रामनिक 1.5/2 अंको के साथ सयुंक्त पहले स्थान पर पहुँच गए है । आनंद और अनीश गिरि 0.5 अंको पर है और बाकी सभी खिलाड़ी 1 अंक पर खेल रहे है !

मुंबई मेयर कप - दीप्तयान सहित 4 अन्य बढ़त पर

06/06/2017 -

भारतीय समर चैस सर्किट का दूसरा बड़ा टूर्नामेंट भारत की आर्थिक राजधानी बोले तो आमची मुंबई में अब अपनी रफ्तार पकड़ चुका है । मुंबई मेयर कप के 10वें संस्करण में 4 राउंड के बाद 4 खिलाड़ी 4 अंक बनाकर सयुंक्त बढ़त पर चल रहे है और अच्छी बात यह है की इनमें से तीन खिलाड़ी भारत के है ,भारत की चुनौती का भार अपने कंधो पर लिए युवा दीप्तयान सभी मैच जीतकर  सबसे आगे चल रहे है , साथ ही काफी समय बाद लय में लौटे दीपन चक्रवर्ती ,हमवतन और हमराज्य नीलोत्पल को हराकर युवा शायांतन भी सयुंक्त बढ़त पर है , बांग्लादेश के दिग्गज नियाज मुरशिद भी उड़ीसा  के प्रदर्शन को भुलाकर रफ्तार पकड़ते नजर आ रहे है ।पढे यह लेख 

 

नॉर्वे शतरंज 2017: ब्लिट्ज़ :कार्लसन रहे किंग !

06/06/2017 -

नॉर्वे शतरंज 2017 के शुभारंभ होने के साथ ही विश्वनाथन आनंद की अंतर्राष्ट्रीय शतरंज में वापसी हो गयी है । आनंद सहित दुनिया के चोटी के 10 दिग्गज खिलाड़ियों के बीच होने वाली यह महाजंग आने वाले 12 दिनो तक आपको रोमांचित होने ,सीखने का ,समझने का भरपूर मौका देगी । तो तैयार हो जाइए इस मैच से जुड़ी हर महत्वपूर्ण खबर आप चैसबेस पर देख पाएंगे , खैर बात करे ब्लिट्ज़ की तो पहले दिन हुए इस मुक़ाबले में विश्व चैम्पियन कार्लसन के आगे किसी की नहीं चली उन्होने 2 अंको की बढ़त के साथ बड़ी ही आसानी से ब्लिट्ज़ का खिताब अपने नाम किया । आनंद अच्छा खेले पर 6 ड्रॉ 1 जीत और 2 हार के साथ वह सातवे स्थान पर रहे । उम्मीद है आज से शुरू हो रहे क्लासिकल मुक़ाबले में आनंद अपने प्रसंशकों को खुश होने का मौका जरूर देंगे । 

किट इंटरनेशनल – हो डुक विजेता ,देबाशीष उपविजेता

03/06/2017 -

किट इंटरनेशनल का खिताब वियतनाम के हो डुक नें अपने दमदार खेल की बदौलत अपने नाम कर लिया वह अंतिम मैच में उपविजेता और मेजबान भारत की उम्मीद देबाशीष दास के स्लाव डिफेंस से अपना बचाव करने में कामयाब रहे अंततः मैच ड्रॉ रहा और हो डुक विजेता बन गए वहीं भारत का सम्मान बरकरार रखते हुए दूसरे और तीसरे  स्थान पर भारत के देबाशीष दास और दीप्तयान घोष रहे । एडम तुखेव को इस बार चोंथे स्थान से संतोष करना पड़ा । सहज ग्रोवर ने जोरदार वापसी करते हुए पांचवे स्थान पर परचम लहराया । कुल मिलाकर 10वां किट संस्करण अपने आयोजन के स्तर के मामले में निश्चित तौर पर बेहद अव्वल दर्जे का टूर्नामेंट साबित हुआ ।

पढे सागर शाह की यह शानदार रिपोर्ट 

किट इंटरनेशनल - अब नितिन से बंधी उम्मीद !

01/06/2017 -

किट इंटरनेशनल टूर्नामेंट अब अपने अंतिम पड़ाव के करीब पहुँच गया है । आठ राउंड के बाद भारत के इंटरनेशनल मास्टर एस नितिन और वियतनाम के एन डुक हो  7 अंक के साथ सयुंक्त बढ़त पर चल रहे है । 9वे राउंड में नितिन सफ़ेद मोहरो से डुक हो से मुक़ाबला खेलेंगे और अगर वह यह मुक़ाबला जीते तो उनका खिताब पर दावा काफी मजबूत हो जाएगा । अच्छी बात यह है की 6.5 अंको पर मौजूद दूसरे स्थान पर भी टॉप सीड ओमोनटोव से भारत के ग्रांड मास्टर देवशीष दास टक्कर लेंगे तो 6.5 अंको पर मौजूद भारत के सीआरजी कृष्णा को 6 अंको पर खेल रहे दीप्तयान घोष से मुक़ाबला खेलना होगा । इस बीच केटेगरी बी का खिताब निरंजन मोचरला नें अपने नाम किया । पढे सागर शाह की रिपोर्ट और देखे अमृता की शानदार तस्वीरे ...  

किट इंटरनेशनल : निरंजन ,विक्रम और नितिन सयुंक्त बढ़त पर

31/05/2017 -

किट इंटरनेशनल शतरंज प्रतियोगिता हर राउंड में समीकरण बदल रही है और यह कहना काफी मुश्किल है की आखिर कौन इस बार खिताब का हकदार होगा । 7 चरणों के बाद 5 खिलाड़ी 6 अंक लेकर सबसे आगे चल रहे है तो उनके ठीक पीछे 11 खिलाड़ी 5.5 अंको पर ऐसे में जब तीन राउंड खेले जाने शेष है जो खिलाड़ी अंतिम तीन में लगातार जीत दर्ज कर सकेगा उसके ही सिर विजेता का ताज होगा । खिलाड़ियों के अंको में इतना कम अंतर है की ड्रॉ खेलने वाले खिलाड़ी के लिए विजेता बनना थोड़ा मुश्किल ही नजर आता है। इन सबके बीच छठे राउंड में 10 वर्षीय आदित्य मित्तल की ग्रांड मास्टर नियाज मुर्शिद पर जीत काफी चर्चे में रही । पढे यह लेख 

‘चैस इन स्कूल’ है सबसे बड़ा लक्ष्य - भारत सिंह चौहान

30/05/2017 -

देश में चैस के भविष्य और खिलाडिय़ों को प्रोत्साहन पर आल इंडिया चैस फैडरेशन के सी.ई.ओ. भारत सिंह चौहान ने पंजाब केसरी के साथ विशेष बातचीत कीउन्होने कहा की आल इंडिया चैस फैडरेशन देश में चैस के विकास के लिए दिन-रात मेहनत कर रहा है और फैडरेशन पूरे देश के स्कूलों में चैस को लागू करवाने की दिशा में प्रयासरत है। फैडरेशन का मानना है कि स्कूलों में चैस की प्रोमोशन के जरिए ही देश में अच्छे नागरिक पैदा किए जा सकते हैं। देश में चैस के भविष्य, फैडरेशन की आगामी रणनीति और चैस खिलाडिय़ों के लिए नए मौके पैदा करने को लेकर किए जा रहे प्रयासों के बारे में हुई बातचीत । पढे यह लेख 

 

किट इंटरनेशनल – भारतीय खिलाड़ियों का दबदबा !

29/05/2017 -

किट इंटरनेशनल शतरंज में भारत के दिग्गजों के थोड़े फीके प्रदर्शन के बीच देश के ही कई अन्य  प्रतिभाशाली खिलाड़ियों के शानदार प्रदर्शन के कारण पाँच राउंड के बाद भारत का दबदबा साफ तौर पर देखा जा सकता है । चोंथे राउंड में टॉप सीड ओमोनटोव को भारत के सीआरजी कृष्णा नें हार का स्वाद चखाया । फिलहाल पाँच राउंड के बाद सीआरजी कृष्णा ,शायांतन दास ,आरआर लक्ष्मण ,एस नितिन ,सिद्धांत मोहपात्रा ,कार्तिक वेंकटरामन ,बंगालदेशी दिग्गज रहमान जियौर ,आर्मेनिया के लेवान बाबूजिआन 4.5 अंको के साथ संयुक्त बढ़त पर है । चेसबेस इंडिया के संस्थापक सागर शाह भुवनेश्वर में मोजूद रहकर प्रतियोगिता की हर हलचल पर अपनी नजर रखे हुए है और आप तक सारी जानकारी पहुंचा रहे है । 

किट इंटरनेशनल 2017 : 10वें संस्करण का आगाज

28/05/2017 -

भुवनेशर ,उड़ीसा , भारत के चार सबसे प्रतिष्ठित ग्रांड मास्टर टूर्नामेंट में से एक किट इंटरनेशनल का दसवां संस्करण उड़ीसा में आरंभ हो गया है ,भारतीय चुनौती का प्रतिनिधित्व युवा ग्रांड मास्टर दीप्तयान घोष कर रहे है ।  2569 रेटिंग वाले दीप्तयान को दूसरी वरीयता दी गयी है । प्रतियोगिता मे टॉप सीड दिल्ली ओपन के विजेता तजाकिस्तान की ग्रांड मास्टर फारुख ओमानटोव ( 2632)  हैं । तीन राउंड के बाद 10खिलाड़ी 3 अंक बनाकर सयुंक्त बढ़त पर चल रहे है । कई बड़े दिग्गज उलटफेर का भी शिकार हो रहे है । कई नन्हें कमाल भी कर रहे है इन सबके बीच उड़ीसा में एक और शानदार आयोजन को आप सबके बीच पहुंचाने चेसबेस इंडिया संस्थापक सागर शाह उड़ीसा से भेज रहे है शानदार जानकारी ! 

एशियन ब्लिट्ज़:वैशाली -पदमिनी नें किया गौरान्वित

22/05/2017 -

चीन में एशियन शतरंज का क्लासिकल वर्ग पूरा होते ही सम्पन्न हुआ एशियन ब्लिट्ज़ शतरंज भारत के लिए बेहद खास बन गया । भारत की बेहद प्रतिभाशाली आर वैशाली नें महिला वर्ग का स्वर्ण तो पदमिनी नें कांस्य पदक जीतते हुए देश भर को गर्व महसूस करने और खुशी मनाने का मौका दे दिया । पिछले कुछ समय से महिला शतरंज में भारत का अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर प्रदर्शन निखर कर सामने आ रहा है और देश को अब महिला वर्ग से भी मिलने वाले पदको की संख्या में इजाफा हुआ है और यह बेहद शुभ संकेत है भारतीय शतरंज के लिहाज से । बात करे पुरुष वर्ग में तो भारत के अरविंद चितांबरम सिर्फ टाईब्रेक के आधार पर दुर्भाग्य से कांस्य पदक जीतने से चूक गए और चौंथे स्थान पर रहे । 

एशियन शतरंज - विदित और वैशाली को कांस्य पदक

20/05/2017 -

भारत के लिहाज से एशियन महाद्वीप शतरंज स्पर्धा में  सबसे बड़ी खबर यह है की विदित नें विश्व कप के लिए अपनी जगह पक्की कर ली है । निश्चित तौर पर पुरुष और महिला वर्ग में भारत का प्रदर्शन और बेहतर हो सकता था पर खेल में सभी परिणाम हमारे अनुसार नहीं आते अच्छी बात यह है की भारत के खाते में दो कांस्य पदक आए है  पुरुष वर्ग में विदित गुजराती नें तो महिला वर्ग में आर वैशाली नें कांस्य पदक पर कब्जा जमाया है । पुरुष वर्ग में शीर्ष 10 में भारत से विदित के अलावा ग्रांड मास्टर सूर्या शेखर गांगुली कुल 3 खिलाड़ी जगह बनाने में कामयाब रहे तो महिला वर्ग में शीर्ष 10 में वैशाली के अलावा मैरी एन गोम्स ,पदमिनी राऊत और स्वाति घाटे जगह बनाने में कामयाब रही है । 

क्या विदित बनेंगे एशियाई शतरंज के नए बाहुबली !!

19/05/2017 -

एशियन महाद्वीप शतरंज स्पर्धा आज अपने अंतिम पड़ाव प र्पहुंच गयी है कल का मैच भारत के लिहाज से बेहद निर्णायक और महत्वपूर्ण है । हालांकि आज भारत को पुरुष वर्ग में अधिबन और सेथुरमन की और महिला वर्ग में वैशाली और पदमिनी की हार से जोरदार झटका लगा पर बात करे सकारात्मक नजरिए की तो कल विदित की जीत उन्हे एशियाई शतरंज का नया सम्राट बना सकती है कल उन्हे टॉप सीड यू यांगी से मुक़ाबला खेलना है और एक जीत उन्हे विजेता बना देगी । वही महिला वर्ग में मैरी एन गोम्स और वैशाली अभी भी भारत को पदक दिला सकती है । तो कल का दिन तय करेगा की क्या भारत और चीन की टक्कर में किसका वर्चस्व स्थापित होता है । 

एशियन महाद्वीप शतरंज : भारत को पदक की आस

18/05/2017 -

17 एशियन देश इस स्पर्धा में भाग ले रहे है और इसकी प्रतिस्पर्धा का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है की कुल 55 खिलाड़ियों में 33 ग्रांड मास्टर ,13 इंटरनेशनल मास्टर है । प्रतियोगिता में भारतीय चुनौती का प्रतिनिधित्व विदित गुजराती (2687) कर रहे है । इस एशियन महाद्वीप शतरंज स्पर्धा में भारत के ग्रांड मास्टर विदित गुजराती ,अधिबन और पूर्व विजेता सेथुरमन 7 राउंड के बाद 5 अंक बनाकर सयुंक्त दूसरे स्थान पर पहुँच गए है । भारतीय प्रतिभा अरविंद चितांबरम नें पूर्व फीडे विश्व चैम्पियन को पराजित कर शीर्ष पर धमाल मचाने के संकेत दे दिये है । जबकि महिलाओं में वैशाली अपने प्रदर्शन से सभी को प्रभावित कर रही है पदमिनी और मैरी एन गोम्स भी पदक की उम्मीद बनाए हुए है । 

फीडे ग्रांड प्रिक्स : हरिकृष्णा ने चखा जीत का स्वाद

17/05/2017 -

मॉस्को में चल रही फीडे ग्रांड प्रिक्स में भारत की एकमात्र उम्मीद ग्रांड मास्टर पी हरिकृष्णा नें आज अपने प्रसंशकों को खुसी मनाने का पहला मौका दिया उन्होने टूर्नामेंट में अपनी पहली जीत दर्ज करते हुए एक बार फिर अच्छा प्रर्दशन करने की अपनी संभावनाओं को बल दिया है । इस जीत से अंतिम पायदान के समीप पहुँच चुके हरिकृष्णा को नया जीवन दान मिला है और वह 2.5/5 अंको के साथ सयुंक्त तीसरे स्थान पर पहुँच गए है । अगले राउंड में उन्हे अब दिग्गज और अनुभवी बोरिस गेलफंड से मुक़ाबला करना है । उम्र के फासले को ध्यान में रखे तो आज युवा हरिकृष्णा के पास आगे बढ़कर अपनी वापसी सुनिश्चित करने का एक और मौका है । पढे यह लेख